Business Loan चाहिए Small Business के लिए लोन कहा से मिलेगा?

/
/
/
70 Views

small business loan kaise milega

भारत में किसी भी तरह का छोटा व्यवसाय व लघु उद्योग शुरू करने के लिए बिज़्नेस की लागत के लिए धन जुटाने के कई सारे तरीके है जिनसे आप आसानी से पैसा इकट्ठा कर सकते है इस पोस्ट में इन्ही तरीक़ो के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी है। Small business loan kaha se milega? बिजनेस शुरू करने के लिए लोन और लघु उद्योग के लिए लोन, लघु उद्योग (Small Business) शुरू करने के लिए loan कैसे ले? 

बिजनेस के लिए लोन कैसे मिलेगा?

किस भी व्यापार, लघु उद्योग, छोटे व्यवसाय या किसी स्टार्टअप को शुरू करने के लिए सबसे पहली ज़रूरत है, पैसा, बिज़्नेस की लागत, धन या पूंजी। किसी भी व्यवसाय के लिए धन जुटाना सबसे बड़ी ज़रूरत और चुनौती है क्योकि बिना पैसे के कुछ भी शुरू करना संभव नही हो सकता है।

बहुत सारे उद्यमी या स्टार्टअप करने वाले लोग बिज़्नेस शुरू करने के लिए अपने बचत किए हुए पैसे या अपने किन्ही रिश्तेदारों व दोस्तों से उधार लिए गए पैसे का इस्तेमाल करते है। इसके अलावा कुछ लोग अपने स्टार्टअप के लिए लोन पर निर्भर रहते है। वो लोग किसी बैंक या फाइनान्स कंपनी से ऋण यानी लोन लेकर व्यापार की शुरूवात करते है आज के समय में आप कई आसान तरीकों से धन प्राप्त करके किसी भी तरह का छोटा व्यवसाय शुरू कर सकते है, इसके लिए भारत्त में कई ज़रिए है।

बिज़नेस के लिए लोन कहा से ले?

यहां भारत में आप लघु उद्योग शुरू करने के लिए कई सरकारी व्यवसाय ऋण योजनाएं (Government Business Loan Schemes) उपलब्ध हैं जैसे कि MSME व्यवसाय ऋण, MUDRA ऋण, सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड योजना, राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम सब्सिडी आदि इन सब का लाभ आप अपने व्यापार की शुरूवात के लिए उठा सकते हैं। इन योजनाओ के अलावा भी कई और तरीके है व्यवसाय के लिए फंड जुटाने या फिर बिज़्नेस स्टार्ट अप में मदद लेने के लिए, जिनका विवरण नीचे विस्तार से दिया गया है।  

small business loan

BUSINESS के लिए मुद्रा योजना से लोन

भारत सरकार के द्वारा माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी MUDRA नामक एक योजना बनाई गयी है जिसके तहत भारत के नए और मौजूदा व्यवसायों के लिए लघु, मध्यम और दीर्घकालिक ऋण / लोन प्रदान किए जाते है। इसके अलावा इस योजना के तहत भाग लेने वाले सभी बैंक और गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियां आपको भारत में एक नया व्यवसाय शुरू करने के लिए नरम शर्तों पर MUDRA Loan के तहत पैसा देती हैं।

मुद्रा योजना से लोन कैसे ले?

मुद्रा योजना के तहत लोन लेने के लिए आप किन्ही वाणिज्यिक बैंकों, लघु वित्त बैंकों, आरआरबी, सहकारी बैंकों, एमएफआई और एनबीएफसी से संपर्क कर सकते हो, और इस योजना से गैर-कॉरपोरेट, गैर-कृषि क्षेत्रों व छोटे या सूक्ष्म लघु उद्योगो के लिए उद्यमों को 10 लाख रुपये तक का लोन प्रदान किया जाता है।

इस मुद्रा लोन के लिए आपके पास कुछ ज़रूरी दस्तावेज़ होना ज़रूरी है जैसे कि पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र, उद्योग के लिए मशीनरी और अन्य वस्तुओं के उद्धरण, पासपोर्ट साइज फोटो, व्यावसायिक पहचान पत्र, व्यवसाय लोकेशन का अड्रेस प्रूफ आदि। मुद्रा लोन प्राप्ति के लिए ज़रूरी स्टेप्स कुछ इस तरह है –

  • सबसे पहले mudra.org.in से आवेदन पत्र डाउनलोड करें।
  • फॉर्म में सभी आवश्यक जानकारी भरें।
  • निकटतम बैंक शाखा में जाए जो मुद्रा ऋण प्रदान करती है।
  • बैंक में आवेदन पत्र या फॉर्म को जमा करें।
  • बैंक की सभी औपचारिकताओं को बताए अनुसार पूरा करें।
  • प्रस्तुत सभी दस्तावेजों को बैंक द्वारा सत्यापित किया जाएगा।
  • सत्यापन के बाद, बैंक ऋण को मंजूरी देगा।

क्राउड फंडिंग से बिज़्नेस की शुरूवात

आज भारत सहित पूरी दुनिया में कई अच्छे क्राउडफंडिंग प्लेटफॉर्म उपलब्ध है जहा से अपना व्यवसाय स्थापित करने के लिए जनता से पैसा जुटा सकते हो, इसके लिए आपको सिर्फ़ अपने व्यवसाय के विचार यानी बिज़्नेस आइडिया को प्रस्तावित करने की जरूरत है।

यहा क्राउडफंडिंग का मतलब किसी प्रोजेक्ट, बिजनेस या किसी सामाजिक कार्य के लिए लोगों से रकम जुटाने की प्रक्रिया से होता है। क्राउडफंडिंग कैसे करते है, इसकी पूरी जानकरी नीचे दी गयी है –

BUSINESS के लिए क्राउडफंडिंग कैसे करे?

क्राउडफंडिंग नये उद्यमियों को छोटे व्यवसायों को शुरू करने के लिए इंटरनेट पर उपलब्ध कई पलटफ़ोर्मस के ज़रिए पैसा जुटाने की अनुमति प्रदान करता है। क्राउडफंडिंग अभियान या कॅंपियन बहुत ही आसान है इसमे व्यवसाय के लिए एक प्रोफ़ाइल बनाकर और फंड का एक लक्ष्य निर्धारित करके, क्राउडफंडिंग प्लेटफॉर्म पर अनुरोध को ऑनलाइन प्रकाशित किया जाता हैं। 

लघु व्यवसाय शुरू करने के लिए कई सारी क्राउडफंडिंग वेबसाइटें उपलब्ध है जैसे WEFUNDER, SEEDINVEST, KICKSTARTER, INDIEGOGO, CROWD SUPPLY, CROWDFUNDER, EXPERIMENT, CHUFFED, PATREON, FUNDABLE आदि।

इनमे से किसी भी क्राउड फंडिंग वेबसाइट पर कॅंपियन चला कर आप अपने बिज़्नेस के लिए अप्लाइ कर सकते हो। एक अभियान या कॅंपियन चलाने के लिए आपको कोई फीस नही देनी पड़ती, जब तक कि आपके कॅंपियन का टारगेट पूरा नही हो जाता है।

छोटे कारोबार की शुरुआत के लिए वेंचर कैपिटल

भारत और भारत के बाहर कई निवेशक और कैपिटलिस्ट मौजूद हैं जिनसे फंड लेकर आप स्टार्टअप कर सकते है। इन निवेशको को एंजल इन्वेस्टर्स और वेंचर कॅपिटलिस्ट्स कहा जाता है, और इनसे व्यवसाय के लिए ली गयी धन राशि को वेंचर कॅपिटल कहते है।

ऐसे निवेशक आपके लिए आपके छोटे व्यवसाय या स्टार्टअप में आसानी से निवेश के लिए तैयार रहते है, बस वो अपना मुनाफ़ा ज़रूर पहले ही तय करते है जो आपके व्यवसाय से होने वाली कमाई या प्रॉफिट का कुछ प्रतिशत होता है।  

वेंचर कैपिटल क्या है?

Venture Capital Kya hai? वेंचर कैपिटल (उद्यम पूंजी) मुख्यतः निजी इक्विटी फाइनेंसिंग का एक रूप होता है जो वेंचर कैपिटल फर्मों के द्वारा उच्च विकास क्षमता रखने वाले छोटे स्टार्टअप्स और अच्छा विकास का प्रदर्शन करने वाली नयी उभरती कंपनियों को प्रदान किया जाता है। उच्च गुणवता वाले छोटे व्यवसाय को विस्तारित करने के लिए एक निश्चित अमाउंट की आवश्यकता की पूर्ति जब किसी वेंचर कैपिटल  दाता कंपनी के द्वारा पूरी की जाती है तो इसको वेंचर कॅपिटल फंडिंग कहा जाता है।

भारत में कई सारी वेंचर कैपिटल कंपनिया मौजूद है जिनकी सहयता से व्यापार शुरू करने के लिए पैसा जुटाया जा सकता है जैसे VENTURE EAST, ACCEL PARTNERS, SEQUOIA CAPITAL, NEXUS VENTURE PARTNERS, KALAARI CAPITAL आदि।

BUSINESS के लिए को-ऑपरेटिव क्रेडिट सोसाइटीस से लोन

भारत में कई सारी सहकारी साख समितियां (को-ऑपरेटिव क्रेडिट सोसाइटी) मौजूद है जो अपना खुद का बिज़्नेस शुरू करने की इच्छा रखने वाले लोगों को कुछ मात्रा में यानी छोटी धन राशि उधार प्रदान करती है। यहा से उधार की धन कितनी मिलेगी, ये आपके व्यवसाय पर निर्भर करती है। ऐसी ही एक सहकारी साख समिति ‘हमारा इंडिया क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड’ भारत में मौजूद है जहा से उद्योग के लिए धन जुटा सकते है। 

BUSINESS के लिए सेल्फ़ हेल्प ग्रूप (Self-help group) से लोन

आजकल स्वयं सहायता समूह (Self-help Groups) भी आपको एक छोटा व्यवसाय शुरू करने के लिए पैसे उधार देकर आपकी मदद करते हैं। आमतौर पर इन समूहों के द्वारा बिज़्नेस लोन किसी विशेष समुदाय के लोगों से या किसी विशेष जगह पर उपलब्ध करवाए जाते हैं।

Self-help Groups को स्व-सहायता समूह या पारस्परिक सहायता समूह के रूप में भी जाना जाता है, ये ऐसे लोगों का समूह होते हैं जो आपस में एक दूसरे को किसी ख़ास मकसद के लिएआर्थिक सहायता प्रदान करते हैं।

Must Read Related Posts

Read Also  MSME Loan Scheme क्या है (Hindi)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This div height required for enabling the sticky sidebar