MSME Loan Scheme क्या है (Hindi)

/
/
/
96 Views

कई वित्तीय संस्थान क्रेडिट पर व्यवसाय से संबंधित विभिन्न खर्चों को पूरा करने के लिए लोन की सुविधा उपलब्ध करवाते है, ऐसी ही एक सरकारी लोन स्कीम है, एमएसएमई लोन स्कीम, यहा विस्तार से जानिए – MSME loan kya hota hai और MSME loan kaise milega in Hindi…

msme loan kya hota hai in hindi

MSME Loan Kya Hota hai in Hindi – एमएसएमई लोन क्या है?

एमएसएमई लोन असुरक्षित लोन होता हैं जो कई वित्तीय संस्थानों द्वारा लोगो को उनके व्यवसाय संबंधी खर्चों को पूरा करने के लिए दिया जाता है, एमएसएमई लोन को भारत सरकार और आरबीआई द्वारा वित्त, बुनियादी व्यवसाय ढांचे और अन्य क्षेत्रों के समर्थन के लिए व्यावसायिक उद्यमों के लिए लोन के रूप में जाना जाता है।

ब्याज दर 9.75% से 18%
प्रोसेसिंग चार्ज 2% से 3%
औसत लोन अवधि 3 से 5 साल
अवधि से पहले भुगतान पर चार्जेज कुछ भी नही
योग्यता पिछले 3 महीनों में ₹90 हजार का टर्नओवर
लोन राशि ₹50,000 से ₹2 करोड़ रुपये
EMI भुगतान समय साप्ताहिक OR मासिक

MSME Scheme kya hai in Hindi – एमएसएमई योजना क्या है?

एक सरकारी योजना है जिसके अंतर्गत माइक्रो, छोटे (Small) और मीडियम वर्ग के एंटरप्राइज को 50 हजार से 2 करोड़ रुपये तक का बिज़नेस लोन उपलब्ध करवाया जाता है और लोन की राशि स्कीम के टाइप और लोन प्राप्त करने वाले पर निर्भर करती है।

  • माइक्रो एंटरप्राइज – वो होते है जिनके बिज़नेस में निवेश 1 करोड़ रुपये से कम है और उनका सालाना टर्नओवर 5 करोड़ रुपये से कम होता है।
  • स्माल/छोटे एंटरप्राइज – वो होते है जिनके बिज़नेस में निवेश 1 करोड़ से 10 करोड़ रुपये है और उनका सालाना टर्नओवर 5 करोड़ से 50 करोड़ रुपये होता है।
  • मीडियम एंटरप्राइज – वो होते है जिनके बिज़नेस में निवेश 50 करोड़ रुपये से कम है और उनका सालाना टर्नओवर 250 करोड़ रुपये तक होता है।
Read Also  Escrow Account in Hindi - Escrow Account क्या है और कैसे काम करता है?

मुद्रा लोन योजना से तीन तरह का लोन लिया जा सकता है, वो है…

शिशु लोन – राशि 50,000 रुपये
किशोर लोन – राशि 50,000 से 5 लाख रुपये
तरुण लोन – राशि 5 लाख से 20 लाख रुपये
सीजीटीएमएसई स्कीम – राशि 2 करोड़ रुपये

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पिछले साल जानकारी दी थी कि सितम्बर 2020 तक सभी प्राइवेट बैंकों द्वारा 1,61,017.68 करोड़ रुपये के लोन इस स्कीम के तहत मंजूर किये गए है, जिनमे से 1,13,713.15 करोड़ रुपये का लोन बाँटा जा चूका है, और सरकारी बैंकों द्वारा 78,067.21 करोड़ रुपये के लोन का अप्रूव हो चुका है, और 62,025.79 करोड़ रुपये का लोन बाँटा जा चूका है।

All Schemes (सभी एमएसएमई योजनाएं)

एमएसएमई लोन के लिए कई स्कीम्स है, जैसे –

  1. पीएम एम्प्लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (PMEGP)
  2. परफॉरमेंस एंड क्रेडिट रेटिंग स्कीम (PCR)
  3. क्रेडिट गारंटी ट्रस्ट फण्ड फॉर माइक्रो & स्माल एंटरप्राइज (​CGTMSE)
  4. इंटरेस्ट सब्सिडी ईलिगिबिलिटी सर्टिफिकेट (ISEC)
  5. साइंस एंड टेक्नोलॉजी स्कीम (STS)
  6. मार्केट प्रमोशन & डेवलपमेंट स्कीम (MPDA)
  7. रेवंपेड स्कीम ऑफ़ फण्ड फॉर रिजनरेशन ऑफ़ ट्रेडिशन इंडस्ट्रीज (SFURTI)
  8. कोर उद्यम योजना (CUY)
  9. कोर विकास योजना (CVY)
  10. स्किल उपग्राशन & महिला कोर योजना (MCY)
  11. डेवलपमेंट ऑफ़ प्रोडक्शन इंफ्रास्ट्रक्चर (DPI)
  12. डोमेस्टिक मार्केट प्रमोशन स्कीम (DMP)
  13. एक्सपोर्ट मार्केट प्रमोशन (EMP)
  14. ट्रेड एंड इंडस्ट्री रिलेटेड फंक्शनल सपोर्ट सर्विसेज (TIRFSS)
  15. फाइनेंसियल सपोर्ट टू MSMEs in ZED सर्टिफिकेशन
  16. स्कीम फॉर प्रमोशन इनोवेशन, रूरल इंडस्ट्री & Entrepreneurship (ASPIRE)
  17. क्रेडिट लिंक्ड कैपिटल सब्सिडी फॉर टेक्नोलॉजी उपग्रडेशन (CLCSS)
  18. ISO 9000/ISO 14001 सर्टिफिकेशन रियिमबर्समेंट
  19. मार्केटिंग सपोर्ट टू MSMEs (बार कोड)
  20. लीन मॅन्यूफॅक्चरिंग कॉंपिटिटीव्नेस फॉर MSMEs
  21. डिजाईन क्लिनिक फॉर डिजाईन एक्सपर्ट टू MSMEs
  22. प्रौद्योगिकी और गुणवत्ता उन्नयन सहायता टू MSMEs
  23. उद्यमिता और प्रबंधकीय विकास ऑफ SMEs
  24. QMS & QTT के माध्यम से विनिर्माण क्षेत्र को प्रतिस्पर्धी बनाने में सक्षम बनाना
  25. बौद्धिक संपदा अधिकारों पर जागरूकता का निर्माण (IPR)
  26. इंटरनेशनल कोऑपरेशन मार्केटिंग असिस्टेंस स्कीम
  27. असिस्टेंस स्कीम & टेक्नोलॉजी उपग्रैडेशन (MATU)
  28. बाजार विकास सहायता
  29. प्रशिक्षण संस्थानों को सहायता
  30. सूक्ष्म और लघु उद्यम क्लस्टर विकास (MSE-CDP)
  31. EDP/MDP स्कीम्स
  32. NER स्कीम्स
  33. TCSP स्कीम्स
Read Also  SIP kya hai in Hindi

MSME Loan Eligibility in Hindi – एमएसएमई लोन लेने की योग्यताएँ क्या-क्या है?

एमएसएमई योजना के तहत लोन लेने के लिए ज़रूरी योग्यताएँ इस प्रकार है –

  • लोन लेने वाला भारतीय नागरिक होना चाहिए
  • लोन लेने वाले की उम्र 25 से 66 साल तक ही मान्य है
  • बिज़नेस कम से कम 3 साल पुराना होना ज़रूरी
  • स्व नियोजित भी लोन के लिए आवेदन कर सकता है
  • भागीदारी, सीमित देयता भागीदारी और प्राइवेट लिमिटेड कंपनी भी लोन ले सकती है

All Documents (एमएसएमई लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज)

  • आईडी प्रूफ (ID Proof)
  • पैन कार्ड (PAN Card)
  • कंपनी का पैन कार्ड (Company PAN Card)
  • आयु प्रमाण (Age Certificate)
  • निवास प्रमाण पत्र (Address Proof)
  • पार्टनरशिप डीड (Partnership Deed)
  • बिज़नेस सर्टिफिकेट (Business Certificate)
  • बैंक स्टेटमेंट (Bank Statement)
  • बैलेंस शीट और टैक्स दस्तावेज़ (Balance Sheet & Tax Document)

MSME Loan Kaise Milega in Hindi (Apply Kaise Kare) – एमएसएमई लोन कैसे ले?

यदि आप सभी एमएसएमई लोन स्कीम की योग्यताए रखते है तो आप लोन के लिए आवेदन करके लोन प्राप्त कर सकते है, इसके लिए आपको 3 मुख्य स्टेप्स को फॉलो करना होगा और किसी बैंक की वेबसाइट पर जाकर आप इस स्कीम के तहत लोन लेने के लिए ऑनलाइन भी अप्लाइ कर सकते हो, ये स्टेप्स इस प्रकार है –

  1. सबसे पहले बैंक की साईट पर जाकर एमएसएमई एप्लीकेशन फॉर्म में आवश्यक जानकारी भरनी है, जिसमे आपका नाम, बिज़नेस, स्टेट, फोन नंबर, लोन लेने का मकसद आदि के बारे में पूछा जाएगा।
  2. फिर आपको सभी ज़रूरी डॉक्युमेंट्स को अपलोड करना है।
  3. फिर फॉर्म को चेक कर लेने के बाद फॉर्म को सब्मिट कर देना है और OTP से वेरिफाइ करना होता है।
Read Also  Loan Kitne Prakar Ke Hote Hain | What are the types of loans

ये स्टेप पूरी करने के बाद कुछ ही समय में आपको लोन अप्रूवल मिल जाएगा और फिर तकरीबन तीन दीनो में ही आपकी लोन राशि आपके बैंक अकाउंट में प्राप्त हो जाएगी।

Benefits of MSME Loan in Hindi – एमएसएमई लोन के फायदे क्या है?

एमएसएमई लोन स्कीम मुख्यतः बिज़नेस के लिए है जिससे कई छोटे-बड़े व्यापारियो और नये स्टार्टअप्स को कई तरह के फायदे मिल सकते है, जैसे…

  • बिना किसी गारंटी के लोन
  • कोई अप्रत्यक्ष शुल्क नहीं
  • बहुत ही सरल प्रक्रिया
  • लोन नवीनीकरण प्रक्रिया आसान
  • सिर्फ तीन दिन में लोन अप्रूवल
  • फास्ट ईएमआई विकल्प

जानिए, लोन EMI कैसे कॅल्क्युलेट करे?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This div height required for enabling the sticky sidebar